New Kadak Attitude status for Boys | Attitude Status | Whatsapp Status Video
Welcome
Login / Register

New Kadak Attitude status for Boys | Attitude Status | Whatsapp Status Video

Thanks! Share it with your friends!

URL

You disliked this video. Thanks for the feedback!

Sorry, only registred users can create playlists.
URL


Added by Edison in Whatsapp Status
82 Views




Description

New Kadak Attitude status for Boys | Attitude Status | Whatsapp Status Video

Like, Comment and Share this video with everyone you love.

सफलता के लिए सकारात्मक सोच जरूरी है

एक छोटी सी है डिब्बी जिसमे है कुछ रोशनी भरी
एक बिंदु एक ज्योति के समान संपुर्ण फिर भी निराकार।।
रोशनी तेज़ इतनी की सूरज भी शरमाये गर्म इतनी की
एक मादक विस्फोट से हो जाये इस प्रकाश को मैं समेटना चाहती हूँ
ताउम्र इसी रोशनी में नहाना चाहती हूँ
इसकी गर्माहट में पिघलना चाहती हूँ
फिर पिघल कर फिर से घड़ना चाहती हूँ।।
एक छोटी सी है डिब्बी जिसमे है कुछ रोशनी भरी ……
यह रोशनी नही मगर है तरंगों का समंदर इस समंदर में मैं मछली बन तैरना चाहती हूँ
एक गोताखोर सी बन इसकी गहराई में उतरना चाहती हूँ
थोड़ी इठलाती हुई मै फिर से उभरना चाहती हूँ।।
इक छोटी सी है …. यह नही सिर्फ रोशनी है
यह एक जादूगरी इक गुदगुदी और अजीब सी सिरहन से भरी
इस गुदगुदायी सिरहन में मै लिपटना चाहती हूँ
इस जादूगरी को मै अपनी बाहों में भरना चाहती हूँ इक छोटी सी है ……
है नही ये सिर्फ रोशनी ये है प्यारी मिलान की रात अपने प्रियतम को समर्पित
एक अनूठी सौगात इस रात की चांदनी में मै चमकना चाहती हूँ
इस मिलन के क्षड़ों में में ठहरना चाहती हूँ मैं नाचना चाहती हूँ
में झूमना चाहती हूं इस ज्योति बिंदु को में चूमना चाहती हूँ ।। इक छोटी सी है ….
इस रोशनी का है जो एओह एक रोशनकार वही तोह है
व्याप्त और देता सबको आकार उस रोशनकार के हाथों मैं संवरना चाहती हूं
जड़ बन उसके हाथों फिर निखरना चाहती हूं उस ज्योति बिंदु में मैं समाना चाहती हूँ
मैं पिघलना चाहती हूं मैं मचलना चाहती हूं इस रोशनी में मैं नहाना चाहती हूं
मैं नाचना चाहती हूँ मैं झूमना चाहती हूँ।।।
इक छोटी सी है डिब्बी जिसमे है कुछ रोशनी भरी।।।।

यही हमारा नारा है
सर उठा के बढ़े चलो
झुकना नहीं गवारा है
चाहे हो आंधी या तूफान
नहीं रुकेगा अपना कारवां
मेहनत से जो चाहे हम पा लें
क्या धरती क्या आसमान
बढ़े चलो बस बढ़े चलो
यूँ ही चलना गवारा है
जो बढ़ते जाते है पथ पर
मज़िल वो पा जाते हैं
जो बीच राह सोच में पड़े
तो बस पड़े रह जायेंगे
उठो जागो बस बढ़े चलो
विजय पथ को तुम पा लो

रात का जब है घनघोर साया
तब आकाश में चाँद जगमगाया
टिमटिमाते तारों के आँगन में
गोल चकोर मन को भाया
चाँद की शीतल चांदनी ने
दबी आकाँक्षाओं को जगाया
चाँद कहता है सबसे रोज़
इंसान तू हार से क्यों घबराया
देख मुझे मेरे दाग देख
मुझपर बहुतों ने आरोप लगाया
मैं निडर सफ़ेद चादर ओढ़
आज फिर दोबारा यहीं आया


Follow me :-

► Facebook: https://www.facebook.com/profile.php?id=100011643765068
► Twitter: https://twitter.com/guru_sufi
► Google+: https://plus.google.com/u/0/+SufiGuru
► Website: http://www.sufiguru.com/

Heart Touching Desh Bhakti Shayari :-

https://youtu.be/kpWbErccbaA
https://youtu.be/09piz0vEUGU
https://youtu.be/ja_hd4n0oIo
https://youtu.be/RJeFyc_g10w
https://youtu.be/Rr2ScAgSAyc

Subscribe to our channel:
https://www.youtube.com/channel/UCPKcxzYALUeJMgPAISIHKYg

New Kadak Attitude status for Boys | Attitude Status | Whatsapp Status Video
https://youtu.be/1cZQNzmZRtM

Post your comment

Comments

Be the first to comment
RSS